मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;828103351aa17fe10e5964aaae8861bd15d1d716175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;2668145eaf436febb33b738b5c1b14372208aed4175;250;1933d3eb5437585560d91b09b19eabef1abeba41175;250;1d49a022684e9e84e017b90e1cf2d586a1494856175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;d46367fb31101646266af84a6720d25862003e88175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d175;250;3f8bd1cf76134edb8bbd64fe531f169c10e5303f175;250;0bb624b0b1146fd3811a95d9917376463b22c057

राष्ट्रीय सुर्खियां--

सम्पादक

डॉ. लीना


Print Friendly and PDF

अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़ संस्थान को पत्रकारों की आवश्यकता

August 20, 2017

पत्रकारिता क्षेत्र में डिग्री के साथ-साथ अनुभवी पत्रकारों को प्राथमिकता  

शीघ्र शुरू होने जा रहे अंतर्राष्ट्रीय न्यूज़ संस्थान (ANS) को अपनी हिंदी और अंग्रेजी भाषा की वेबसाइट्स हेतु ट्रेनी, सब-एडिटर, फोटो एडिटर, सोशल मीडिया एडिटर की आवश्यकता है। बता दें कि एएनएस की निकट भविष्य की यह योजना है कि देश के अग्रणी 15 भाषाओं में कई न्यूज़ पोर्टल शुरू किया जाए। फिलहाल हिन्दी और अंग…

Read more

जम्मू एडीटर्स गिल्ड गठित

August 19, 2017

राष्ट्रीय एडीटर्स गिल्ड ऑफ़  इंडिया के साथ तालमेल से पत्रकारों की समस्याओं के निवारण की होगी कोशिश  

जम्मू/ जम्मू समाचारपत्र संपादक गिल्ड का आज यहां गठन किया। यह पत्रकारों की समस्याओं और उनके कल्याण के लिए काम करेगा। गिल्ड के अध्यक्ष राज दलूजा बनाये गये। श्री राम कुमार दुबे वरिष्ठ उपाध्यक्ष और श्री राजीव महाजन, सैयद इकबाल क…

Read more

न्‍यूज एजेंसी BYN का हुआ शुभारंभ

August 16, 2017

पटना / बिहार की पहली न्‍यूज एजेंसी BYN का शुभारंभ स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर कल पटना में किया गया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए BYN के संपादक वीरेंद्र यादव ने कहा कि मासिक पत्रिका ‘वीरेंद्र यादव न्‍यूज’ वर्तमान स्‍वरूप में यथावत जारी रहेगी। पत्रिका के कार्य को विस्‍तार करते हुए BYN न्‍यूज एजेंसी की शुरुआत की जा रही है। यह बिहार के मुद्दों पर बिहार के लिए पहली न्‍यूज एजेंसी है, जो बिहार की संवेदनाओं को स्‍पर्श करने का प्रयास करेगी।…

Read more

ब्रॉडकास्ट एडीटर्स असोसिएशन की नयी एक्जीक्यूटिव

August 14, 2017

सुप्रिय प्रसाद नये अध्य़क्ष, अजीत अंजुम महासचिव

दिल्ली/ आज तक और इंडिया टुडे के मैनेजिंग एडीटर सुप्रिय प्रसाद को ब्रॉडकास्ट एडीटर्स असोसिएशन (BEA) यानी न्यूज चैनलों के संपादकों की संस्था का नया अध्य़क्ष चुन लिया गया है। वहीं वरिष्ठ संपादक अजीत अंजुम नये महासचिव चुने गये। दिबांग (ABP NEWS) और अरनब गोस्वामी (Republic TV) उपाध्यक्ष और अजय कुमार (News Nation) कोषाध्यक्ष बने। इन सभी का चुनाव सर्वसम्मति से बीईए …

Read more

15 अगस्‍त से न्‍यूज एजेंसी BYN

August 9, 2017

दिसंबर तक इसे लोकल खबरों का बड़ा न्‍यूज पुल बनाने की कोशिश

पटना/ मासिक पत्रिका ‘वीरेंद्र यादव न्‍यूज’ अपने कार्यक्षेत्र का विस्‍तार करते हुए समाचार एजेंसी के रूप में अपनी कार्यशैली को तब्‍दील कर रहा है। यह पीटीआई, यूएनआई, एएनआई या हिंदुस्‍थान समाचार जैसी समाचार एजेंसियों का लघु आकार होगा। इसके संपादक वीरेंद्र यादव ने बताया कि हम प्रतिदिन 3 से 5 ही खबरें ही देंगे, जो मूलत: सचिवालय और विधान सभ…

Read more

पत्रकारिता में भी 'राष्ट्र सबसे पहले' जरूरी

August 5, 2017

लोकेन्द्र सिंह/ मौजूदा दौर में समाचार माध्यमों की वैचारिक धाराएं स्पष्ट दिखाई दे रही हैं। देश के इतिहास में यह पहली बार है, जब आम समाज यह बात कर रहा है कि फलां चैनल/अखबार कांग्रेस का है, वामपंथियों का है और फलां चैनल/अखबार भाजपा-आरएसएस की विचारधारा का है। समाचार माध्यमों को लेकर आम समाज का इस प्रकार चर्चा करना पत्रकारिता की विश्वसनीयता के लिए ठीक नहीं है। कोई समाचार माध्यम जब किसी विचारधारा के साथ नत्थी कर दिया जाता है, जब उसकी खबरों के प्रति दर्शकों/पाठकों में एक पूर्व…

Read more

क़तरनों में छिपी अर्थव्यवस्था की गिरावट की ख़बरें

August 3, 2017

रवीश कुमार/ बिजनेस अख़बारों में एक चीज़ नोटिस कर रहा हूं। अर्थव्यवस्था में गिरावट की ख़बरें अब भीतर के पन्नों पर होती हैं। कोर सेक्टर में आई गिरावट की ख़बर पहने पन्ने पर छपा करती थी लेकिन इसे भीतर सामान्य ख़बर के तौर पर छापा गया था।…

Read more

क्या प्रभाष जोशी होने के लिए रामनाथ गोयनका चाहिए?

August 1, 2017

ये पुस्तक जीवनी कम पत्रकारीय समझ पैदा करते हुये अभी के हालात को समझने की चाहे अनचाहे एक ऐसी जमीन दे देती है, जिस पर अभी प्रतिबंध है

पुण्य प्रसून बाजपेयी/ मालवा के पठार की काली मिट्टी और लुटियन्स की  दिल्ली के राजपथ की  लाल बजरी के बीच प्रभाष जोशी की पत्र…

Read more

माखनलाल चतुर्वेदी वि. वि. का सत्रारंभ समारोह कल

July 26, 2017

नोबेल पुरस्कार विजेता श्री कैलाश सत्यार्थी सहित कई हस्तियाँ देंगी विद्यार्थियों को मार्गदर्शन

भोपाल. प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवम संचार विश्वविद्यालय का सत्रारंभ समारोह आयोजित किया जा रहा है| तीन दिवसीय यह समारोह 27 जुलाई से समन्वय भवन, न्यू मार्केट में शुरू होगा|…

Read more

बंडारू दत्तात्रेय ने की मजीठिया वेतन बोर्ड सिफारिशों पर अमल की स्थिति की समीक्षा

July 21, 2017

राज्य सरकारों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक

नई दिल्ली/ श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री बंडारू दत्तात्रेय ने मजीठिया वेतन बोर्ड की सिफारिशों पर अमल की स्थिति की समीक्षा के लिए आज यहां राज्य सरकारों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की।…

Read more

उप्र विधानसभा कैंटीन में पत्रकारों के हाथों से छीनीं गयी थालियां

July 21, 2017

धक्के मारकर किया गया बाहर

लखनऊ। उप्र विधानसभा में पत्रकारों के हाथों से भोजन की थैलियां छिनवा ली गई और आधा दर्जन से अधिक वरिष्ठ पत्रकारों, जिसमें महिलाएं भी शामिल थी। पत्रकारों के हाथ पकड़कर उद्दंडता पूर्वक विधानसभा रक्षकों व मार्शलों ने हाथ से थाली छिनकर सभी पत्रकारों को कैंटीन से बाहर खदेड़ दिया। पत्रकारों के साथ इस तरह का बर्ताव करते हुए नियम कानून का हवाला देते हुए धक्के मार-मारकर कैंटीन से बाहर खदेड़ा गया और जमकर अभद्रता की गई जिसको लेक…

Read more

पत्रकारिता का संकट पत्रकारों को खा रहा है

July 20, 2017

रवीश कुमार/ उस दोपहर बहस इस बात को लेकर हो गई कि अगर किसी नीतिगत या अन्य कारणों से पांच लाख छात्रों की ज़िंदगी प्रभावित है तो यह संख्या इतनी भी कम नहीं है कि सरकार का ध्यान न खींच सके। छात्र कहते रहे कि पांच लाख छात्र हैं, मैं अड़ा रहा कि तो फिर वे कहां हैं। पांच लाख छात्र जब अपनी लड़ाई नहीं लड़ सकते तो उनकी डरपोकता का बोझ मैं क्यों उठाऊं। अब उनका भी क्या दोष जो दो चार की संख्या में अपनी समस्या की फाइलें बनाकर घूम रहे हैं। उनकी इस इच्छाशक्ति का सम्मान तो किया ही जाना चाहिए। यही…

Read more

आलेख- ख़बरें और भी हैं

View older posts »