Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts May 2021

आजीवकों में कोई ईश्वर का दूत नहीं होता

कैलाश दहिया/ महान आजीवक कबीर साहेब के नाम से लोग अभी भी गफलत में हैं। पिछले दिनों सोशल मीडिया पर भी गलत कयास लगाए गए हैं। वैसे तो कबीर साहेब को ले कर सारी बहसें खत्म की जा चुकी हैं। जिस में अच्छे-अच्छे खेत रहे। बावजूद इस के, निहित स्वार्थवश अभी भी कबीर पर लोग मुंह उठाकर बोलने लगत…

Read more

संभावनाओं भरा है हिंदी पत्रकारिता का भविष्य

30 मई 'हिंदी पत्रकारिता दिवस' पर विशेष

डॉ. पवन सिंह मलिक/ 30 मई 'हिंदी पत्रकारिता दिवस' देश के लिए एक गौरव का दिन है। आज विश्व में हिंदी के बढ़ते वर्चस्व व सम्मान में हिंदी पत्रकारिता का विशेष योगदान है। हिंदी पत्रक…

Read more

पत्रकारिता दिवस का मान बढ़ाया भोपाल-इंदौर ने

30 मई 'हिंदी पत्रकारिता दिवस' पर विशेष

मनोज कुमार/ एक पत्रकार के लिए आत्मसम्मान सबसे बड़ी पूंजी होती है और जब किसी पत्रकार को अपनी यह पूंजी गंवानी पड़े या गिरवी रखना पड़े तो उसकी मन:स्थिति का अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता ह…

Read more

पाठकों में विश्वास पैदा करे मीडिया

हिंदी पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्‍य में भारतीय जन संचार संस्थान द्वारा ‘कोरोना काल के बाद की पत्रकारिता’ विषय पर चर्चा…

Read more

दिवंगत पत्रकारों के कार्यों को आगे बढ़ाना ही उन्हें श्रद्धांजलि : आलोक मेहता

कोरोना के कारण दिवंगत हुए पत्रकारों को नारद जयंती पर किया या याद

भोपाल।  वैश्विक महामारी कोरोना के कारण दिवंगत हुए पत्रकारों के अच्छे कार्यों को आगे बढ़ाना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी…

Read more

कोविड से जान गंवाने वाले पत्रकारों के 67 परिवारों को वित्तीय सहायता की मंजूरी

केंद्र सरकार देगी प्रत्येक परिवार को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की पत्रकार कल्याण योजना के तहत 5 लाख रुपये की राशि  …

Read more

नारद दृष्टि : पत्रकारिता का पथ प्रदर्शक

डॉ. पवन सिंह मलिक/ आज पूरा विश्व भारत की ओर आशा भरी नजरों से देख रहा है, क्योंकि भारत ही विश्व को सही दिशा और दशा देने की क्षमता रखता है। ऐसे में लोकतंत्र का चौथा  स्तम्भ होने के कारण मीडिया जगत की भूमिका और अधिक बढ़ जाती है कि विश्व के समक्ष अपने राष्ट्र की कैसी तस्वीर प्रस…

Read more

कोराना प्रभावित मरीज़ों, परिवारों की मदद कर रहा है समर चैरिटेबल ट्रस्ट

पटना/ कोविड - 19 की दूसरी लहर के दौरान समर चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा फुलवारी शरीफ़ और उसके आसपास के इलाकों में रह रहे सैकड़ों परिवारों के बीच खाद्यान्न सामाग्री का वितरण किया जा रहा है।…

Read more

के जी सुरेश सीईसी की शासी निकाय के सदस्य बने

भोपाल/ भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति और मीडिया विशेषज्ञ  डॉ के जी सुरेश को कांर्सोटियम फॉर एजुकेशनल कम्युनिकेशंस (सीईसी) की शासी निकाय का सदस्य नामांकित किया गया है।…

Read more

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार प्रेम कुमार

पटना/ बिहार श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के पूर्वमहासचिव और पटना से प्रकाशित राष्ट्रीय पत्र दैनिक हिंदुस्तान में लम्बे समय तक पत्रकार रहे श्री प्रेम कुमार ने आज दुनिया से विदा कह दिया। आईजीआईएमएस, पटना में आज उनका निधन हो गया। वे पिछले कई सप्ताह से बीमार चल रहे थे। …

Read more

दोनों खबरें साथ होती तो पता चलता

अभी भी लेक्चर देने का काम चल रहा है और काम नहीं हो रहा है

रवीश कुमार/ प्रधानमंत्री धीरे धीरे पहले पन्ने की पहली हेडलाइन बनने लगे हैं। धीरे धीरे इसी तरह फिर से सब सामान्य होगा। इस खबर में जो उन्…

Read more

विवाह पद्धति' के माध्यम से जमीन पर उतरा आजीवक चिंतन

अरूण आजीवक/  मनुष्य सामाजिक प्राणी है अर्थात मनुष्य का अपना एक समाज होता है। दरअसल मनुष्य मनुष्य ही इसी रूप में हुआ है कि उस ने समाज के रूप में रहना शुरू किया। समाज का आधार मनुष्य की एक-समान विचारधारा और जीवन-यापन का तरीका है। अलग-अलग विचारधारा और जीवन-यापन के तरीकों के आधार पर मनु…

Read more

सूचना की अधिकता से आमजन असमंजस में: डॉ सच्चिदानंद जोशी

जे.सी बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के संचार एवं मीडिया प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा 'मीडिया की बात आपके साथ' साप्ताहिक श्रृंखला के उद्घाटन सत्र में वेबिनार का आयोजन…

Read more

रचना, सृजन और संघर्ष से बनी थी पटैरया की शख्सियत

प्रो. संजय द्विवेदी/ वे ही थे जो खिलखिलाकर मुक्त हंसी हंस सकते थे, खुद पर भी, दूसरों पर भी। भोपाल में उनका होना एक भरोसे और आश्वासन का होना था। ठेठ बुंदेलखंडी अंदाज उनसे कभी बिसराया नहीं गया। वे अपनी हनक, आवाज की ठसक, भरपूर दोस्ताने अंदाज और प्रेम को बांटकर राजपुत्रो…

Read more

वरिष्ठ पत्रकार शिवअनुराग पटेरिया नहीं रहे

आईआईएमसी के महानिदेशक ने जताया दुख, कहा- ‘जनमुद्दों के लिए जूझते रहे पटेरिया’

नई दिल्ली/ इंदौर । वरिष्ठ पत्रकार, संपादक और लेखक श्री शिवअनुराग…

Read more

डिजीटल ट्रांसफार्मेशन के लिए तैयार हों नए पत्रकार

नए समय में मीडिया शिक्षा की चुनौतियां

प्रो. संजय द्विवेदी/ एक समय था जब माना जाता है कि पत्रकार पैदा होते हैं और पत्रकारिता पढ़ा कर सिखाई नहीं जा सकती। अब वक्त बदल गया है। जनसंचार का क्षेत्र आज शिक्षा क…

Read more

चौथा खम्भा आजकल इसी तरह से झूल रहा

रामजी तिवारी । अखबार का पहला पन्ना बता रहा है कि कोरोना-समय में सरकार चुस्त दुरुस्त है. अस्पताल की व्यवस्था चाक-चौबंद है. आक्सीजन की कोई कमी नहीं. टेस्ट और वैक्सिनेशन जोर-शोर से चल रहा है. दवाएं और परीक्षण सब जनता के लिए सुलभ है. …

Read more

पत्रकारों के लिए होगा बड़े पैमाने पर टीकाकरण

चंडीगढ़/ हरियाणा सरकार ने कोरोना संकटकाल में राज्य में मीडियाकर्मियों द्वारा समर्पित रूप से दी जा रही सेवाओं को देखते हुए इन्हें कोरोना से बचाव के लिये बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है।…

Read more

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार भगवतीधर वाजपेयी

आईआईएमसी के महानिदेशक ने जताया दुख कहा- ‘राष्ट्रीय भावधारा को समर्पित था उनका जीवन

नई दिल्ली । वयोवृद्ध पत्रकार और राष्ट्रीय भावधारा के लेखक श्र…

Read more

मीडिया रिपोर्टिंग पर पाबंदी नहीं होनी चाहिए: निर्वाचन आयोग

दिल्ली/ भारत निर्वाचन आयोग ने  मीडिया से संबंधित अपनी स्थिति पर हाल के बयानों का संज्ञान लिया है। आयोग ने इस संबंध में कुछ निश्चित प्रेस रिपोंर्टों का भी संज्ञान लिया है। आयोग ने हमेशा कोई निर्णय लेने से पहले उचित विचार-विमर्श किया है। …

Read more

20 blog posts

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना