Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

Blog posts : "feature General twitter whatsapp अपील अभियान आयोजन खबर गूगल से जानकारी टिप्पणी टीवी निंदा पत्रिका पुस्तक समीक्षा पुस्तिका फेसबुक से बहस मीडिया पुस्तक समीक्षा मुद्दा लोग विरोधस्वरूप पुरस्कार वापसी विविध खबरें वेकेंसी व्यंग्य शिक्षा श्रद्धांजलि संगीत संस्कृति संस्मरण सम्पर्क सम्‍मान साहित्य सिनेमा हिन्दी "

पत्रकारिता की उजली परंपरा के वाहक

स्वदेश समूह के प्रधान संपादक राजेंद्र शर्मा की हीरक जयंती पर (18 जून) पर विशेष

प्रो.संजय द्विवेदी/ उनका हमारे बीच होना उस उम्मीद और आत्मविश्वास…

Read more

कोरोना के बाद मीडिया की बदलती भूमिका पर राष्ट्रीय वेबीनार

18 जून को आयोजन 

भोपाल/ कोरोना महामारी ने मानव जीवन को बदल कर रख दिया है. मीडिया भी इससे अछूता नहीं रहा है. मीडिया के सामने कोरोना के बाद कई किस्म की चुनौतियां खड़ी हुई हैं. कोरोना के बाद मीडिया की बदलती भूमिका पर डॉ. बीआर अम्बेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय, महू…

Read more

पत्रकार राजेश कुमार नहीं रहे

पटना/ वरिष्ठ पत्रकार राजेश कुमार नहीं रहे। आज पटना में उनका निधन हो गया। वे  पिछले एक महीने से भी अधिक समय से कोरोना से जूझ रहे थे। …

Read more

हिंदी पत्रकारिता के प्रवर्तक के नाम पर होगा आईआईएमसी का पुस्तकालय

देश में पं. युगल किशोर शुक्ल के नाम पर बनेगा पहला स्मारक

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान का पुस्तकालय अब पं. युगल किशोर शुक्ल ग्रंथालय एवं ज्ञान संसाधन केंद्र के नाम से जाना जाएगा। हिंदी प…

Read more

बहुजन मीडिया की जरूरत, आखिर क्यों ?

संजीव खुदशाह/ मीडिया को लोकतंत्र का चौथा खंभा कहा जाता है। मैं इस बात से पूरी तरह सहमत हूँ। लेकिन मीडिया को लोकतंत्र का चौथा खंभा कहलाने के लिए उसका लोकतांत्रिक, विविधता पूर्ण, सोशल बैलेंस से लैस होना चाहिए। लेकिन भारतीय मीडिया किसी राजतंत्र की तरह सिर्फ सवर्णों द्वारा संचालित …

Read more

सहज संप्रेषण पत्रकारिता की पहली शर्त

ओम थानवी। पिछले साल मैंने एक टिप्पणी लिखी थी कि जब टीका शब्द हिंदी में है, हिंदी मीडिया ने वैक्सीन प्रयोग क्यों ओढ़ लिया है? बहरहाल, अच्छा लगा कि कुछ अख़बार-टीवी टीका-टीकाकरण भी लिखने लगे। …

Read more

वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण किसलय का निधन

रोहतास / रोहतास के वरिष्ठ पत्रकार और वर्तमान में सोनमाटी के संपादक कृष्ण किसलय का आज शाम डेहरी में उनके आवास पर निधन हो गया । वे कई अखबारों में उप संपादक रह चुके थे और सेवा निवृत होने के बाद डेहरी में रह रहे थे और अपने पुराने साप्ताहिक सोनमाटी का पुनः प्रकाशन कर रहे थे। साथ ही सोनमाटी डॉ…

Read more

पर्यावरण संरक्षण से ही बचेगा जीवन : प्रो. संजय द्विवेदी

पर्यावरण दिवस की पूर्व संध्या पर आईआईएमसी में पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन

नई दिल्ली। विश्व पर्यावरण दिवस की पूर्व संध्या पर शुक्रवार को भारतीय जन संचार संस्थान…

Read more

"मास मीडिया के क्षेत्र में सहयोग" को शंघाई सहयोग संगठन के सदस्य देशों में समझौता

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने एक समझौते पर हस्ताक्षर और अनुमोदन को मंजूरी दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने शंघाई सहयोग संगठन के सभी सदस्‍य दे…

Read more

प्रो. गोविंद सिंह उत्तराखंड भाषा संस्थान में सदस्य नामित

आईआईएमसी के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने दी शुभकामनाएं

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान के डीन (अकादमिक) प्रो. गोविंद सिंह को उत्तराखंड भाषा संस्थान में सदस्य के तौर पर नामित …

Read more

बिहार वेब मीडिया नियमावली-2021 को मंजूरी

विज्ञापन के लिए सूचीबद्ध होंगे, डब्लूजेएआई ने जताई खुशी, कहा संघर्ष रंग लाया

पटना/ बिहार सरकार प्रिंट- इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की तर्ज पर अब वेब मीडिया में विज्ञापन देगी…

Read more

आजीवकों में कोई ईश्वर का दूत नहीं होता

कैलाश दहिया/ महान आजीवक कबीर साहेब के नाम से लोग अभी भी गफलत में हैं। पिछले दिनों सोशल मीडिया पर भी गलत कयास लगाए गए हैं। वैसे तो कबीर साहेब को ले कर सारी बहसें खत्म की जा चुकी हैं। जिस में अच्छे-अच्छे खेत रहे। बावजूद इस के, निहित स्वार्थवश अभी भी कबीर पर लोग मुंह उठाकर बोलने लगत…

Read more

संभावनाओं भरा है हिंदी पत्रकारिता का भविष्य

30 मई 'हिंदी पत्रकारिता दिवस' पर विशेष

डॉ. पवन सिंह मलिक/ 30 मई 'हिंदी पत्रकारिता दिवस' देश के लिए एक गौरव का दिन है। आज विश्व में हिंदी के बढ़ते वर्चस्व व सम्मान में हिंदी पत्रकारिता का विशेष योगदान है। हिंदी पत्रक…

Read more

पत्रकारिता दिवस का मान बढ़ाया भोपाल-इंदौर ने

30 मई 'हिंदी पत्रकारिता दिवस' पर विशेष

मनोज कुमार/ एक पत्रकार के लिए आत्मसम्मान सबसे बड़ी पूंजी होती है और जब किसी पत्रकार को अपनी यह पूंजी गंवानी पड़े या गिरवी रखना पड़े तो उसकी मन:स्थिति का अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता ह…

Read more

पाठकों में विश्वास पैदा करे मीडिया

हिंदी पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्‍य में भारतीय जन संचार संस्थान द्वारा ‘कोरोना काल के बाद की पत्रकारिता’ विषय पर चर्चा…

Read more

दिवंगत पत्रकारों के कार्यों को आगे बढ़ाना ही उन्हें श्रद्धांजलि : आलोक मेहता

कोरोना के कारण दिवंगत हुए पत्रकारों को नारद जयंती पर किया या याद

भोपाल।  वैश्विक महामारी कोरोना के कारण दिवंगत हुए पत्रकारों के अच्छे कार्यों को आगे बढ़ाना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी…

Read more

कोविड से जान गंवाने वाले पत्रकारों के 67 परिवारों को वित्तीय सहायता की मंजूरी

केंद्र सरकार देगी प्रत्येक परिवार को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की पत्रकार कल्याण योजना के तहत 5 लाख रुपये की राशि  …

Read more

नारद दृष्टि : पत्रकारिता का पथ प्रदर्शक

डॉ. पवन सिंह मलिक/ आज पूरा विश्व भारत की ओर आशा भरी नजरों से देख रहा है, क्योंकि भारत ही विश्व को सही दिशा और दशा देने की क्षमता रखता है। ऐसे में लोकतंत्र का चौथा  स्तम्भ होने के कारण मीडिया जगत की भूमिका और अधिक बढ़ जाती है कि विश्व के समक्ष अपने राष्ट्र की कैसी तस्वीर प्रस…

Read more

कोराना प्रभावित मरीज़ों, परिवारों की मदद कर रहा है समर चैरिटेबल ट्रस्ट

पटना/ कोविड - 19 की दूसरी लहर के दौरान समर चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा फुलवारी शरीफ़ और उसके आसपास के इलाकों में रह रहे सैकड़ों परिवारों के बीच खाद्यान्न सामाग्री का वितरण किया जा रहा है।…

Read more

के जी सुरेश सीईसी की शासी निकाय के सदस्य बने

भोपाल/ भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति और मीडिया विशेषज्ञ  डॉ के जी सुरेश को कांर्सोटियम फॉर एजुकेशनल कम्युनिकेशंस (सीईसी) की शासी निकाय का सदस्य नामांकित किया गया है।…

Read more

20 blog posts

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना