Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

" साई की आत्मकथा " का विमोचन


फिल्म अभिनेता और लेखक विकास कपूर द्वारा लेखन
शिरडी के साई बाबा पर कई रचनाकारो ने अपने लेखनी  से साई के जीवन चरित्र और तत्कालीन घटनाये  उकेरी है, लेकिन इस बार यह पहल  टेलीविजन धारवाहिको   और फिल्मो  के सफल लेखक  विकास कपूर ने की है। विकास कपूर ने बालीवुड मे बतौर फिल्म अभिनेता और लेखक  के साथ कैरियर शुरू किया लेकिन धीरे धीरे टेलीविजन विशेष तौर पर धार्मिक सिरियल्स और फिल्मो के लिये मशहूर हुये। ओम नमो शिवाय, रामायण , जय  संतोषी मां , श्री गणेश, मन मी ही विश्वास, शोभा सोमनाथ की जैसे की सफल धारवाहिक और शिर्डी के साई बाबा, श्री चैतन्य महाप्रभू जैसी फिल्मो  के लेखक  और निर्माता  तौर पर मशहूर विकास कपूर ने पिछले दिनो साई बाबा पर आधारित पुस्तक " साई की आत्मकथा'' का लेखन किया।  जिसका  विमोचन जी एन्टरटेन्मेट के डायरेक्टर पुनीत गोयनका ने किया। इस अवसर पर असीम खेत्रपाल , गजेंद्र चौहान , अमृता रायचंद , गुफी पेंटल, समीर धर्माधिकारी, एस के घई, अनिता खेत्रपाल , शरद मेहता , सार्थक कपूर उपस्थित थे।

लगभग हर साई भक्त के मन मे यह प्रश्न कौतूहल बन कर उभरता है कि साई बाबा कौन थे ? उनका जन्म कहा हुआ था विकास कपूर द्वारा लिखित पुस्तक ’साई की आत्मकथा '- साई के साई बनने से पहले वैसे तो स्वप्न मे  प्राप्त दिग्दर्शन को आधार बनाकर कल्पना की लेखनी से लिखी गयी है लिखी गई है। परंतु यह कृति एक साधारण बालक के असाधारण शक्ति संपन्न और अन्नत कोटी ब्राम्हंड का नायक बनने के यात्रा को साकार करती है आत्म्कथात्मक शैली मे लिखी गयी इस पुस्तक के कुछ प्रसंग जैसे कुंडलिनी जागरण, दशावतार, शंबूक का वध, नास्तिकों के गाँव में बेहद दिलचस्प और ज्ञान से ओत प्रोत है।  विकास कपूर ने आध्यात्मिक और धार्मिक प्रश्नो को तर्क के साथ ही साथ विज्ञान से जोडकर प्रमाणित कर पाने मे सफलता प्राप्त की है।

 

 

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना