Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

मीडियामोरचा के ब्यूरो प्रमुख साकिब ज़िया सम्मानित

सुविकास ऐनुअल फेस्ट- 2017 ग्रैंड फिनाले संपन्न,  साकिब जिया को विकास प्रबंधन संस्थान और द टाईम्स ऑफ़  इंडिया ने किया सम्मानित 

नेहा कुमारी/पटना। 'विकास प्रबंधन संस्थान (DMI)'  और देश के बड़े अंग्रेज़ी दैनिक 'द टाईम्स ऑफ़ इंडिया' के संयुक्त तत्वावधान में सुविकास ऐनुअल फेस्ट-2017 के ग्रैंड फिनाले कल संपन्न हुआ। इसमें बिहार, झारखण्ड और ऊत्तर प्रदेश के 28 कॉलेजों के छात्रो ने भाग लिया।

समारोह के मुख्य अतिथि प्रख्यात गांधीवादी, पूर्व सांसद, पूर्व कुलपति डॉ. रामजी सिंह ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की। कार्यक्रम के अंत में विजेताओं के नाम की घोषणा की गई। सभी विजेताओं को टैबलेट और रनरअप को किंडल रीडर व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

समारोह में बिहार के वरिष्ठ टीवी पत्रकार और मीडिया मोरचा के ब्यूरो प्रमुख एवं कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स आर्ट्स एण्ड साइंस, पटना के गेस्ट फकैल्टी साकिब ज़िया को 'विकास प्रबंधन संस्थान(DMI)' और अंग्रेज़ी दैनिक 'द टाईम्स ऑफ़  इंडिया' ने संयुक्त रूप से सम्मानित किया। सुविकास प्रतियोगिता के आयोजन को सफल बनाने में विशेष योगदान के लिए साकिब ज़िया को यह पुरस्कार दिया गया। डीएमआई के वरिष्ठ प्रोफेसर कृष्ण मूर्ति ने श्री साकिब को मोमेंटम देकर सम्मानित किया। इसके अलावा विभिन्न कॉलेजों के शिक्षकों के साथ-साथ विकास प्रबंधन संस्थान के कई प्रोफेसर व छात्र-छात्राओं को भी सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम का संचालन चंद्रशेखर वर्मा ने किया। 

मौके पर कॉलेज ऑफ़ कॉमर्स आर्ट्स एण्ड साइंस, पटना के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के छात्रों को लगातार बेहतर शिक्षा देने और उन्हें हमेशा बेहतर मार्गदर्शन करने के लिए उनकी सराहना की गई।

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;f5d815536b63996797d6b8e383b02fd9aa6e4c70175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;1549d7fbbceaf71116c7510fe348f01b25b8e746175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना