Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

राजेश राज को सहाफत के सरताज अवार्ड

उर्दू प्रेस क्लब दिल्ली ने किया सम्मानित

नई दिल्ली ।बिहार विधानसभा चुनाव में दो महीने से भी ज्यादा समय तक दिल्ली से बिहार आकर निष्पक्ष और निर्भीक रिपोर्टिग करने के लिये दिल्ली दूरदर्शन न्यूज़ के वरिष्ठ पत्रकार राजेश राज को उर्दू प्रेस क्लब दिल्ली ने सहाफत के सरताज अवार्ड देकर सम्मानित किया है।

26 नवंबर को दिल्ली में  उर्दू प्रेस क्लब द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में सउदी अरब के प्रिंस शेख खालिद अल- ज़रवा और समी बदर अल शरीफ ने राजेश राज को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस मौके पर वर्तमान परिप्रेक्ष्य में पत्रकारिता ,समर्पण और स्वतंत्रता विषय पर एक सेमिनार में बोलते हुए उर्दू प्रेस क्लब दिल्ली के अध्यक्ष शमीम ख़ान ने बताया कि बिहार चुनाव के दौरान खबरिया चैनलों के नजरिए पर प्रकाश डाला । सेमिनार में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के चिकित्सक डा.एम .वली,जस्टिस फख़रुद्दीन के अलावा पत्रकारिता जगत की नामी गिरामी हस्तियाँ,न्यायविद ,शिक्षाविद् समेत बड़ी तादाद में लोग मौजूद थे।

गौरतलब है कि राजेश राज बिहार के बेगूसराय ज़िले के मंझौल के रहने वाले हैं और दिल्ली दूरदर्शन न्यूज़ में वरीय राजनीतिक संवाददाता के रूप में संसद की रिपोर्टिंग करते हैं।

मंझौल बेगूसराय के एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे राजेश राज ने बिहार विश्वविद्यालय मुज़फ्फरपुर से राजनीति विज्ञान में एमए और पत्रकारिता और जनसंचार में पीजी डिप्लोमा किया है। उसके बाद 2003 से पत्रकारिता  में  सक्रिय हैं। अखबारों में संपादक के नाम पत्र लिखकर पत्रकारिता की शुरुआत करने वाले राजेश राज ने पढ़ाई के दौरान मुज़फ्फरपुर दूरदर्शन में एंकरिंग करके अपने करिअर की शुरुआत की। उसके बाद 2005 में दिल्ली आये और जून 2006 को दूरदर्शन न्यूज़ में डेस्क पर योगदान किया। बाद में 2007 से रिपो्रटिंग में आ गये। तब से लेकर अब तक लगातार पोलिटिकल रिपो्रटिंग में हाथ आजमा रहे हैं। 2009 और 2014 का लोकसभा चुनाव के अलावा तकरीबन 8 विधानसभा चुनाव कवर कर चुके हैं। साथ ही दिल्ली में एनडीए,रेलवे और संसद वीट की रिपो्रटिंग करते हैं। राजेश राज ने बिहार के लिये कई डाक्यूमेंट्री भी बनाये हैं। मसलन भागलपुर सिल्क नगरी के बुनकरों की दशा पर रेशम की डोर ..चली किस ओर,कोसी और बागमती नदी की व्यथा के ऊपर तटबंध पर उठते सवाल,बेगूसराय के काबर झील पक्षी बिहार पर उजड़ता आशियाना उल्लेखनीय हैं। फिलहाल सामाजिक  न्याय में मीडिया की भूमिका विषय पर ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय दरभंगा से पीएच.डी कर रहे हैं। समाजिक गतिविधियों में रुचि भी रखने वाले राजेश राज अपने विद्यार्थी जीवन में विहार विश्वविद्यालय मुज़फ्फरपुर में छात्र नेता भी रहे हैं। खेल और खिलाडी से उनका गहरा जुड़ाव रहा है।

 

 

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना