Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

Print Friendly and PDF

पटना पुस्तक मेला 8 नवंबर से

पटना के गांधी मैदान में आयोजन,  इस बार थीम  है -पेड़, पानी, जिंदगी

साक़िब ज़िया/पटना/ सेंटर फॉर रीडरशिप डेवलपमेंट, (सीआरडी) की ओर से पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में पटना पुस्तक मेला का आयोजन किया जा रहा है। आठ नवंबर से पटना पुस्तक मेले की शुरुआत होने जा रही है। 18 नवंबर तक चलनेवाले इस पुस्तक मेला में कुल 110 प्रकाशक आ रहे हैं। ये बातें मेला परिसर में बुधवार को आयोजित एक प्रेसवार्ता के दौरान मेले के आयोजकों ने दी। 

पुस्तकों के महाकुंभ यानि पटना पुस्तक मेला का उद्घाटन 8 नवंबर को शाम चार बजे होगा। इस बार स्कूल के प्रिंसिपल गण मेले का उद्घाटन करेंगे।  सीआरडी  के संयोजक अमित झा ने बताया कि इस बार भी पटना पुस्तक मेले में देशभर की चर्चित हस्तियां शामिल होंगी। पुस्तक प्रेमियों के लिए कई बड़े साहित्यकार-पत्रकार-सामाजिक कार्यकर्ता मेला में आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि जल पुरुष राजेंद्र सिंह, सामाजिक कार्यकार्ता मेधा पाटकर, कलाकार उषा उथूप सहित देश के विभिन्न क्षेत्रों के कई  नामचीन लोग आएंगे। बिहार के भी लगभग सभी बड़े साहित्यकार, कवि, पत्रकार मेले में पुस्तक प्रेमियों से रूबरू होने जा रहे हैं श्री झा ने बताया कि मेला परिसर में जनसंवाद भी होगा और गपशप भी होगी। पुस्तक प्रेमियों को कॉफी हाऊस वाली फिलिंग भी आएगी और रंगभूमि का आनंद भी मिलेगा। पुस्तक मेले में हर दिन साहित्यिक-सांस्कृतिक गतिविधियां होंगी। 

अमित झा ने बताया कि इस बार मेला का है थीम पेड़, पानी, जिन्दगी। इसलिए पूरे मेले परिसर को हरे-भरे पेड़-पौधों से सजाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सभी आयोजन स्थलों का नाम भी पेड़-पौधों पर ही रखा गया है जैसे- पीपल प्रशासनिक भवन, तुलसी मुक्ताकाश, आम सभागार, बरगद रंगभूमि। इसी तरह मेले परिसर के सभी छह प्रखंडों का नाम क्रमश: नीम, सेमल, पलाश, गुलमोहर, कदम्ब और अशोक रखा गया है। मेला में हर तरफ पेड़-पौधे भी रहेंगे।

मेला के मुख्य द्वार का नाम इस बार राजेश कुमार स्मृति द्वार रखा गया है, जो मेला के चार संस्थापकों में से एक थे। 

जनसंवाद’ कार्यक्रम में ‘तपती धरती, घटता पानी’ विषय पर जलपुरुष राजेंद्र सिंह, त्रिपुरारी शरण और मेहता नागेंद्र के बीच परिचर्चा होगी। ‘गपशप’ कार्यक्रम में मेधा पाटकर के साथ पेड़, पानी, जिंदगी पर आशीष रंजन की बातचीत होगी। ‘कॉफी हाउस’ कार्यक्रम में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के सुप्रिय प्रसाद रहेंगे, ‘बातचीत’ कार्यक्रम में ‘हिंदी और क्राइम फिक्शन’ विषय पर पत्रकार संजीव पालीवाल से बातचीत होगी। पाठकों को  मेला परिसर में हर दिन नुक्कड़ नाटक भी देखने को मिलेंगे। प्रेसवार्ता के दौरान सीआरडी के अध्यक्ष और मेला सीआरडी के सदस्य श्री गुलाटी भी मौजूद रहे।

Go Back

Comment

नवीनतम ---

View older posts »

पत्रिकाएँ--

175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;7a01499da12456731dcb026f858719c5f5f76880175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ac66d262fc1ac411d7edd43c93329b0c4217e224175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974175;250;460bb56d8cde4cb9ead2d6bff378ed71b08f245d

पुरालेख--

सम्पादक

डॉ. लीना