Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

नवीनतम ---

View older posts »

भारतीय पत्रकारिता: सवाल निष्पक्षता का

तनवीर जाफ़री/ पिछले दिनों 30 मई को जब हमारे देश में पत्रकारिता दिवस की बधाइयों का सिलसिला चल रहा था उस के चंद रोज़ पहले पंजाब से यह ख़बर आई कि ज़ी मीडिया ग्रुप के सभी चैनल्स जिनमें हिंदी, अंग्रेज़ी के साथ पंजाबी जैसी क्षेत्रीय भाषा के चैनल्स भी शामिल हैं, को सरकार द्वारा ब्लैक आउट कर दिया गया है।  इस ख़बर के फ़ौरन बाद ही पंजाब की भगवंत मान सरकार ने कोई औपचारिक नोटिफ़िकेशन जारी किये बिना ही 28 मई से राज्य में ज़ी मीडिया ग्रुप से सम्बद्ध सभी चैनल्स के प्रसारण पर रोक लगा दी । ग़ौरतलब है क…

Read more

मास कम्युनिकेशन के रिसर्च स्कॉलरों के लिए जल शक्ति मंत्रालय में इंटर्नशिप

आवेदन करने की अंतिम तिथि 29 जून

जल शक्ति मंत्रालय के अंतर्गत जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प विभाग (डीडब्ल्यूआर,आरडी,जीआर) ने मास कम्युनिकेशन इंटर्नशिप प्रोग्राम की घोषणा की है। यह प्रोग्राम स्नातक/स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों या भारत में जनसंचार के क्षेत्र में मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय/संस्थान में नामांकित रिसर्च स्कॉलर विद्यार्थियों को इंटर्न के रूप में शामिल करना चाहता है।…

Read more

मीडिया: दरकते भरोसे को बचाएं कैसे

हिंदी पत्रकारिता दिवस (30 मई) पर विशेष

प्रो. (डॉ.) संजय द्विवेदी/ हिंदी पत्रकारिता दिवस मनाते समय हम सवालों से घिरे हैं और जवाब नदारद हैं। पं.जुगुलकिशोर शुकुल ने जब 30 मई ,1826 को कोलकाता से उदंत मार्तण्ड की शुरुआत की तो अपने प्रथम संपादकीय में अपनी पत्रकारिता का उद्देश्य लिखते हुए शीर्षक दिया - 'हिंदुस्तानियों के हित के हेत'। यही हमारी पत्रकारिता का मूल्य हमारे पुरखों ने तय किया था। आखिर क्यों हम पर इ…

Read more

मीडिया के लिए ‘वॉचडॉग’ की भूमिका में सोसायटी

हिन्दी पत्रकारिता दिवस (30 मई )  विशेष

प्रो. मनोज कुमार/ पत्रकारिता के इतिहास में हमें पढ़ाया और बताया जाता है कि पत्रकारिता सोसायटी के लिए ‘वॉच डॉग’ की भूमिका में है लेकिन बदलते समय में अब सोसायटी पत्रकारिता के लिए ‘वॉच डॉग’ की भूमिका में आ गया है। पत्रकारिता के कार्य-व्यवहार को लेकर समाज के विभिन्न मंचों पर चर्चा हो रही है। उनके कार्यों की मीमांसा की जा रही है और जहां पत्रकारिता अपने दायित्व से थोड़ा भी…

Read more

दूरदर्शन का एआई युग में प्रवेश

दूरदर्शन किसान 26 मई 2024 को दो एआई  एंकर कृष और भूमि लान्च करेगा

दूरदर्शन एक और उपलब्धि हासिल करने जा रहा है.  9 साल की अपार सफलता के बाद डीडी किसान 26 मई 2024 को एक नए रंग रूप और एक नए अंदाज के साथ, भारत के किसानों के बीच आ रहा है। जहां चैनल की प्रस्तुति एक नए अंदाज में होने जा रही है।…

Read more

डब्ल्यूजेएआई की पटना इकाई का गठन

अध्यक्ष बने उज्ज्वल सिन्हा

पटना/ वेब जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (डब्ल्यूजेएआई) की पटना जिला कमिटी का   गठन किया गया है। संगठन विस्तार के क्रम में बिहार प्रदेश इकाई ने पटना जिला कमिटी का विस्तार किया है. उज्जवल कुमार सिन्हा पटना जिला कमिटी के अध्यक्ष चुने गए हैं। वहीं उपाध्यक्ष योगेश कुमार बने हैं। सचिव का पदभार दीपक कुमार और संयुक्त सचिव मो. कादीर खान को दिया गया है, जबकि दीपशिखा कोषाध्यक्ष बनायीं गईं हैं। इसके अलावा छह कार्यकारिणी सदस्…

Read more

डबल्यूजेएआई की स्व नियामक इकाई डबल्यूजेएसए का पुनर्गठन, प्रो. संजय द्विवेदी को बनाया गया चेयरमैन

लेखक रिटायर्ड आईपीएस ध्रुव नारायण गुप्त, रिटायर्ड आईएएस ओम प्रकाश यादव बने पूर्व उच्चाधिकारी मानद सदस्य; उदय चंद्र सिंह वरिष्ठ पत्रकार सदस्य तो पटना हाई कोर्ट के विधिवेत्ता किंकर कुमार बने मानद विधिक सदस्य…

Read more

आंदोलनरत अन्नदाता: उदासीन सरकार, ख़ामोश मीडिया

निर्मल रानी/ इस समय पूरा देश, शासन,प्रशासन तथा मीडिया लोकसभा चुनावों के वातावरण में डूबा हुआ है। सभी राजनैतिक दलों के स्टार प्रचारकों के निरर्थक आरोपों व प्रत्यारोपों को ज़बरदस्ती मुद्दा बनाकर जनता पर थोपा जा रहा है। आम लोगों की भावनाओं को झकझोर कर सत्ता में बने रहने के कुटिल प्रयास किये जा रहे हैं। परन्तु इसी चिलचिलाती धूप और तेज़ गर्मी में देश का अन्नदाता आंदोलनरत है। गत 17 अप्रैल से किसानों के प्रमुख संगठन संयुक्त किसान मोर्चा ( ग़ैरराजनीतिक) और किसान मज़दूर मोर्चा ने अम्बाला-…

Read more

Movies often show corrupt politicians

Portrayal of political campaigns and elections in Indian films

Abhishek Sharma/ Indian films often depict the dark side of political campaigns and elections through the representation of political corruption and manipulation. Characters in these films are frequently portrayed as embodying corrupt politicians who engage in unethical practices to achieve their political goals. For instance, in the movie "Sarkar," the character of a corrupt Chief Minister resorts to illegal activities to maintai…

Read more

संस्कृति और भारतबोध के प्रखर प्रवक्ता हैं सच्चिदानंद जोशीः प्रो. द्विवेदी

गीतकार-अभिनेता स्वानंद किरकिरे ने किया ‘मीडिया विमर्श’ के डा. जोशी पर केंद्रित अंक का लोकार्पण

भोपाल। हिंदी फिल्मों के लोकप्रिय गीतकार और अभिनेता स्वानंद किरकिरे ने ‘मीडिया विमर्श’ के डा. सच्चिदानंद जोशी पर केंद्रित अंक का लोकार्पण इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग में किया। इस अवसर डा. सच्चिदानंद जोशी, रंगकर…

Read more

सम्पादक

डॉ. लीना


Print Friendly and PDF

सोशल मीडिया से --

मेनस्ट्रीम मीडिया ने खुद को विपक्ष के विरुद्ध खड़ा कर दिया

नरेन्द्र नाथ मिश्रा / इन दिनों मेनस्ट्रीम मीडिया खासकर टीवी के सामने यू ट्यूब और अल्टरनेटिव मीडिया के अधिक तेजी से पसरने पर बहस हो रही है। वहां विपक्षी स्पेस से जुड़े आवाज के अधिक मजबूत होने पर बहस हो रही है। इसके लिए लंबी-लंबी दलील दी जा रही है। जबकि इसका बहुत आसान…

Read more

View older posts »

न्यूज़क्लिक के प्रधान संपादक प्रबीर पुरकायस्थ की गिरफ्तारी अवैध

उच्चतम न्यायालय ने अविलंब रिहा करने का दिया आदेश

नयी दिल्ली/ उच्चतम न्यायालय ने 'न्यूज़क्लिक' के प्…

Read more

लोकमंगल के संचारकर्ता हैं नारद

नारद जयंती(25 मई) पर विशेष

प्रो. संजय द्विवदी/    ब्रम्हर्षि नारद लोकमंगल के लिए संचार करने वाले देवता के रूप में हमारे सभी पौराणि…

Read more

अख़बारों से

गले या पेशाब की थैली का कैंसर?

  

पटना/ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी शीघ्र स्वस्थ हों, मीडियामोरचा की ओर से ये कामना.

Read more

View older posts »

यूनीवार्ता के पूर्व ब्यूरो प्रमुख अरुण केसरी का निधन

नई दिल्ली/ यूनीवार्ता के पूर्व ब्यूरो प्रमुख अरुण केसरी का रविवार शाम निधन हो गया. वह 70 वर्ष के थे. उनके परिवार में पत्नी और दो पुत्र है. श्री केसरी दो दिनों से मामूली रूप से अस्वस्थ थे. रविवार शाम उनका गाजियाबाद जिले के वसुंधरा स्थित यूएनआई अपार्टमेंट में अपने निवास पर निधन हो गया.…

Read more

View older posts »

आलेख- ख़बरें और भी हैं

View older posts »

शिकायत की रिपोर्ट

आपकी उपस्थिती

6396106

बहस--

'या देव सर्व भूतेषू पितृ रूपेण संस्थिता'

दलित चिंतन का निचोड़ है 'आजीवक'

कैलाश दहिया/ बात 1997 की है, डॉ. धर्मवीर की पुस्तक 'कबीर के आलोचक' आई। इस किताब के आते ही हिंदी स…

Read more

View older posts »

पुरालेख--

पत्रिकाएँ--

175;250;e3113b18b05a1fcb91e81e1ded090b93f24b6abe175;250;cb150097774dfc51c84ab58ee179d7f15df4c524175;250;a6c926dbf8b18aa0e044d0470600e721879f830e175;250;13a1eb9e9492d0c85ecaa22a533a017b03a811f7175;250;2d0bd5e702ba5fbd6cf93c3bb31af4496b739c98175;250;5524ae0861b21601695565e291fc9a46a5aa01a6175;250;3f5d4c2c26b49398cdc34f19140db988cef92c8b175;250;53d28ccf11a5f2258dec2770c24682261b39a58a175;250;d01a50798db92480eb660ab52fc97aeff55267d1175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974

पत्रकारिता : एक नजर

वेब पत्रकारिता का चमकता भविष्य

अर्पण जैन "अविचल"/  सूचना और संचार क्रांति के दौर में आज प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया के बीच वेब पत्रकारिता का चलन तेजी से बढ़ा है और अपनी पहचान बना ली है. अखबारों की तरह बेव पत्र और पत्रिकाओं का जाल, अंतरजाल पर पूरी तरह बिछ चुका है. छोटे-बड़े हर शहर से अमूमन बेव पत्रकारिता संचालित हो रही है. छोटे-बड़े सभी शहरों के प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया भी वेब पर हैं. इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत में थोड़े ही समय मे…

Read more

View older posts »

राष्ट्रीय सुर्खियां--

Content