Menu

 मीडियामोरचा

____________________________________पत्रकारिता के जनसरोकार

नवीनतम ---

View older posts »

सरकार के विकास कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण : एस के मालवीय

'वार्तालाप' कार्यशाला का किया गया आयोजन

जमुई/ सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी), पटना द्वारा 6 दिसंबर को जमुई समाहरणालय के सभागार कक्ष में स्थानीय मीडियाकर्मियों के बीच वार्तालाप-क्षेत्रीय मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन पीआईबी, पटना के अपर महानिदेशक एसके मालवीय, निदेशक आशीष लकरा, सहायक निदेशक संजय कुमार, जमुई जिले के वरिष्ठ पत्रकार विनय कुमार एवं देवेंद्र सिंह…

Read more

सोशल मीडिया लोकप्रिय पर भरोसेमंद नहीं : प्रो. संजय द्विवेदी

'जनमोर्चा' के 65वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बोले आईआईएमसी के महानिदेशक

अयोध्या। हिंदी दैनिक 'जनमोर्चा' के 65वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भारतीय जन संचार संस्थान के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने कहा कि बदलते समय में जहां सोशल मीडिया का प्रभाव बढ़ा है, वहीं प्रिंट मीडिया आज भी सबसे महत्वपूर्ण और विश्वसनी…

Read more

एनडीटीवी अस्त हो गया

राजेश बादल/ संस्था के नाम पर भले ही एनडीटीवी मौजूद रहे, लेकिन पत्रकारिता के क्षेत्र में अनेक सुनहरे अध्याय लिखने वाले इस संस्थान का विलोप हो रहा है । हम प्रणॉय रॉय और राधिका रॉय की पीड़ा समझ सकते हैं । छोटे से प्रोडक्शन हाउस को जन्म देकर उसे चैनलों की भीड़ में नक्षत्र की तरह चमकाने वाले इस दंपत्ति का नाम यकीनन परदे पर पत्रकारिता की दुनिया में हरदम याद किया जाएगा ।उनके कोई बेटा नहीं था, लेकिन एनडीटीवी पर उन्होंने जिस तरह सर्वस्व न्यौछावर किया ,वह एक  मिसाल है । अलबत्ता जिस ढंग स…

Read more

पत्रकारिता का क्षरण नहीं, नये दरवाजे खुले हैं: प्रवीण दुबे

महाराष्ट्र के मीडिया छात्रों के साथ संग्रहालय में ‘समागम संवाद’

भोपाल। हर पुरानी पीढ़ी को लगता है कि पत्रकारिता का क्षरण हो रहा है, जबकि यह सच नहीं है. वास्तव में पत्रकारिता की नयी पीढ़ी और समृद्ध है तथा उसके लिए अवसर के नये दरवाजे खुल गए हैं. यह बात वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रवीण दुबे ने दुष्यंत संग्रहालय में ‘समागम संवाद’ के विशेष सत्र में …

Read more

पत्रकारिता के लिए जरूरी है सृजनात्मकता : प्रो. राव

आईआईएमसी के सत्रारंभ समारोह का समापन

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) द्वारा आयोजित सत्रारंभ समारोह के समापन अवसर पर इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. नागेश्वर राव ने कहा कि पत्रकारिता के लिए सृजनात्मकता की आवश्यकता है। ज्ञान के आधार पर हम किसी भी क्षेत्र में शीर्षतम स्तर पर पहुंच सकते हैं, लेकिन इसके लिए सृजनात्मक, निष्पक्ष और साहसी होना जरूरी है। इस अवसर पर पद्मश्री से सम्मा…

Read more

डबल्यूजेएआई की सीवान जिला इकाई का गठन

सीवान/ सीवान में सर्वसम्मति से वेब जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ़ इण्डिया (डबल्यूजेएआई) की जिला इकाई का गठन किया गया। जिसमें  निम्नलिखित पदाधिकारी बनाये गए-

उक्त घोषणा करते हुए डबल्यूजेएआई के प्रदेश अध्यक्ष प्रव…

Read more

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से गढ़ें पत्रकारिता का स्वर्णिम काल : हरिवंश

आईआईएमसी के शैक्षणिक सत्र 2022-23 का आरंभ

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के शैक्षणिक सत्र 2022-23 का सोमवार को शुभारंभ करते हुए राज्यसभा के उपसभापति श्री हरिवंश ने कहा कि आजादी के पहले भारतीय पत्रकारिता का स्वर्णिम काल रहा है। उस समय के पत्रकार 'इन्वेस्टिगेटर' के साथ-साथ 'इन्वेस्टर' भी थे। सीमित संसाधनों के साथ उन्होंने पत्रकारिता के स्वर्णिम काल का निर्माण किया। आज के टेक्नोलॉजी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस…

Read more

आईआईएमसी के सत्रारंभ समारोह का उपसभापति कल करेंगे शुभारंभ

21 नवंबर से 25 नवंबर तक आयोजित होगा कार्यक्रम

नई दिल्ली। भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) का सत्रारंभ समारोह 21 नवंबर से 25 नवंबर तक आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम का शुभारंभ सोमवार, 21 नवंबर को सुबह 10:00 बजे राज्यसभा के उपसभापति श्री हरिवंश नारायण सिंह करेंगे।…

Read more

पत्रकारिता के मूल्यों के लिए अडिग थे मलकानी : स्वपन दासगुप्ता

प्रख्यात पत्रकार के. आर. मलकानी की जन्म शताब्दी के अवसर पर भारतीय जन संचार संस्थान में 'शुक्रवार संवाद' में व्याख्यान

नई दिल्ली। "पत्रकारिता के विद्यार्थियों को बिना किसी दबाव में पत्रकारिता करने की सीख लेनी चाहिए और लोकतंत्र को मजूबत करने में अपना योगदान देना चाहिए। विद्यार्थी मलकानी जी के…

Read more

भारतीय प्रेस परिषद ने राष्ट्रीय प्रेस दिवस मनाया

केन्‍द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री, श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने "नॉर्म्‍स ऑफ जर्नलिस्टिक कंडक्‍ट, 2022" का विमोचन किया

नई दिल्ली / भारतीय प्रेस परिषद ने "राष्ट्र निर्माण में मीडिया की भूमिका" विषय पर नई दिल्ली स्थित स्कोप कन्वेंशन सेंटर में आज राष्ट्रीय प्रेस दिवस मनाया। केन्‍द्रीय सूचना एवं प्र…

Read more

सम्पादक

डॉ. लीना


Print Friendly and PDF

अंजनी कुमार झा को साहित्य अकादमी का अखिल भारतीय कृति पुरस्कार'

महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के मीडिया अध्ययन विभाग के विभागाध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं डॉ. झा  …

Read more

सोशल मीडिया से --

उर्दू मीडिया के दो सौ वर्ष पूरे

उर्मिलेश/ अतीत, वर्तमान और भविष्य. निश्चय ही यह उर्दू पत्रकारिता के संदर्भ में महत्वपूर्ण विषय है, जिस पर गंभीर चर्चा और विचार जारी रहना चाहिए. सिर्फ इसलिए नहीं कि उर्दू पत्रकारिता के दो सौ वर्ष पूरे हो गये, इसलिए भी कि आज उर्दू पत्रकारिता बल्कि यूं कहें उर्दू भाषा के समक्ष भी बड़ी च…

Read more

View older posts »

‘मीडिया को जो लोग चला रहे हैं, वे दरअसल मीडिया के लोग नहीं हैं’

संत समीर/ आजकल आमतौर पर जिस तरह के साक्षात्कार हमें पढ़ने को मिलते हैं, यदि उनके भीतर की परतों को पहचानने की कोशिश करें तो कम ही साक्षात्कार मिलेंगे जो सही मायने में सच का साक्षात् करा प…

Read more

पत्रकार की हत्या

भोज खाकर आ रहे सुभाष की गोली मारकर हत्या

बेगूसराय/  शुक्रवार की रात बेखौफ अपराधियों ने एक पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी. घटना बखरी थाना क्षेत्र के सांखू गांव की है. मृतक पत्रकार की पहचान सांखू गांव निवासी सुभा…

Read more

View older posts »

आलेख- ख़बरें और भी हैं

View older posts »

आपकी उपस्थिती

5164125

बहस--

ब्राह्मण की सीख में पुराण पाथते पिछड़े

कैलाश दहिया/ ब्राह्मणी प्रभाव में पिछड़े वर्ग के कथित साहित्यकारों का दिमाग कैसे काम कर रहा है, इसे अश्विनी कुमार पंकज की लिखत से समझा जा सकता है। इन्होंने अपनी दिनांक 04 जुलाई, 20…

Read more

View older posts »

पुरालेख--

पत्रिकाएँ--

175;250;e3113b18b05a1fcb91e81e1ded090b93f24b6abe175;250;cb150097774dfc51c84ab58ee179d7f15df4c524175;250;a6c926dbf8b18aa0e044d0470600e721879f830e175;250;13a1eb9e9492d0c85ecaa22a533a017b03a811f7175;250;2d0bd5e702ba5fbd6cf93c3bb31af4496b739c98175;250;5524ae0861b21601695565e291fc9a46a5aa01a6175;250;3f5d4c2c26b49398cdc34f19140db988cef92c8b175;250;53d28ccf11a5f2258dec2770c24682261b39a58a175;250;d01a50798db92480eb660ab52fc97aeff55267d1175;250;e3ef6eb4ddc24e5736d235ecbd68e454b88d5835175;250;cff38901a92ab320d4e4d127646582daa6fece06175;250;25130fee77cc6a7d68ab2492a99ed430fdff47b0175;250;7e84be03d3977911d181e8b790a80e12e21ad58a175;250;c1ebe705c563d9355a96600af90f2e1cfdf6376b175;250;911552ca3470227404da93505e63ae3c95dd56dc175;250;752583747c426bd51be54809f98c69c3528f1038175;250;ed9c8dbad8ad7c9fe8d008636b633855ff50ea2c175;250;969799be449e2055f65c603896fb29f738656784175;250;1447481c47e48a70f350800c31fe70afa2064f36175;250;8f97282f7496d06983b1c3d7797207a8ccdd8b32175;250;3c7d93bd3e7e8cda784687a58432fadb638ea913175;250;0e451815591ddc160d4393274b2230309d15a30d175;250;ff955d24bb4dbc41f6dd219dff216082120fe5f0175;250;028e71a59fee3b0ded62867ae56ab899c41bd974

पत्रकारिता : एक नजर

वेब पत्रकारिता का चमकता भविष्य

अर्पण जैन "अविचल"/  सूचना और संचार क्रांति के दौर में आज प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया के बीच वेब पत्रकारिता का चलन तेजी से बढ़ा है और अपनी पहचान बना ली है. अखबारों की तरह बेव पत्र और पत्रिकाओं का जाल, अंतरजाल पर पूरी तरह बिछ चुका है. छोटे-बड़े हर शहर से अमूमन बेव पत्रकारिता संचालित हो रही है. छोटे-बड़े सभी शहरों के प्रिंट व इलेक्ट्रानिक मीडिया भी वेब पर हैं. इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत में थोड़े ही समय मे…

Read more

View older posts »

राष्ट्रीय सुर्खियां--

Content